Health Health care

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए सही करें अपना खान-पान, डॉ. कविता रस्तोगी से जानें कैसी हो आपकी हेल्दी डाइट?

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए सही करें अपना खान-पान, डॉ. कविता रस्तोगी से जानें कैसी हो आपकी हेल्दी डाइट?

हाई ब्लड या हाइपटेंशन को जीवनशैली से जुड़ी बीमारी के रूप में भी जाना जाता है। हाइपटेंशन में धमनियों से बहने वाले खून की रफ़्तार सामान्य से ज्यादा होती है। साथ ही इसके कारण धमनियों की दीवार पर खून का बढ़ता दबाव लगातार बढ़ता ही जाता है, जिससे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों तक खून सर्कुलेट होने में परेशानी पैदा होती है। इस वजन से ब्रेन स्ट्रोक, हार्ट अटैक, लकवा और किडनी फेल्योर जैसे गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में न्यूट्रिशनिस्ट कविता रस्तोगी बताती हैं कि दवाओं के अलावा अगर आप अपनी डाइट और फिटनेस रूटीन में बदलाव करें, तो ब्लड प्रेशर को संतुलित किया जा सकता है। तो आइए न्यूट्रिशनिस्ट कविता रस्तोगी से जानते हैं हाई ब्लड से बचे रहने के लिए या हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों की डाइट कैसी होनी चाहिए

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने का उपाय  (High Blood Pressure Diet)

1. फॉलो करें हाइपोकैलोरिक डाइट

अगर आप मोटापे से ग्रस्त हैं तो आपको ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए अपने बॉडी मास इंडेक्स के अनुसार एक हाइपोकैलोरिक आहार की योजना बनाई जानी चाहिए। ऐसा इसलिए ताकि आप अपने कैलोरी इनटेक को सही कर सकें। दरअसल मोटापा हाई बीपी से सीधे तरीके से जुड़ा हुआ है, ऐसे में मोटापे पर कंट्रोल करके हाई बीपी पर कंट्रोल किया जा सकता है

2.नमक कम करें और प्रोसेस्ड फूड न लें

नमक के सेवन और बढ़े हुए रक्तचाप के बीच संबंधों का एक मजबूत प्रमाण है। ये आसानी से ब्लड प्रेशर बढ़ा सकाता है। इसलिए खाना बनाते समय नमक के उपयोग में कमी लाने की कोशिश करें। साथ ही प्रोसेस्ड फूड, फ्रोजन फूड्स, सोया सॉस, केचप, ब्रेड, आलू के चिप्स, नमकीन नट्स, नमकीन स्नैक्स जैसे तेज नमक वाले प्रोसेस्ड फूड्स को खाने से बचें। इसकी जगह आप पोटेशियम आधारित नमक को जैसे सेंधा नमक, जिसमें सोडियम की मात्रा कम होती है उसे ही खाने के लिए इस्तेमाल करें।

3. सोडियम युक्त चीजों पर कंट्रोल करें

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए सोडियम नियंत्रण पर सख्ती करना बेहद जरूरी है। खास कर मोनोसोडियम ग्लूटामेट, बेकिंग पाउडर, सोडियम बाइकार्बोनेट और सोडियम बेंजोएट जैसे पदार्थों पर। इन सामग्रियों का उपयोग आमतौर पर मीठे व्यंजनों और बेकिंग में किया जाता है।

4. खान-पान में शामिल करें फल और सब्जियां

पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे केल, शलजम का साग, पालक, चुकंदर आदि को खान-पान में शामिल करने से रक्तचाप के स्तर को कम किया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि केले, चुकंदर, लहसुन और हरे पत्तेदार सब्जियों में नाइट्रेट होता हैं और जब आप इनका सेवन करते हैं, तो आपका शरीर इसे नाइट्रिक ऑक्साइड में बदल देता है, जिसके कारण रक्त वाहिकाएं शिथिल हो जाती हैं और सिस्टोलिक के साथ-साथ डायस्टोलिक रक्तचाप भी कम हो जाता है। साथ ही जड़ी बूटियों जैसे तुलसी, सीलोन दालचीनी और अजवाइन आदि को भी अपने खान पाने में शामिल करें। साथ ही नाश्ते में   फ्लेवोनोइड्स से भरे बेरीज को जरूर शामिल करें।

5. कैफिन में कमी लाएं और कैल्शियम युक्त चीजें ज्यादा लें

हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को कैफीन के सेवन में कमी लानी चाहिए। इसके साथ ही उन्हें  कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ जैसे कम फैट वाले दूध और इसके उत्पादों जैसे दही, पनीर, आदि को अधिक से अधिक आहार में शामिल किरना चाहिए। साथ ही मछली में पाए जाने वाले ओमेग -3 फैटी एसिड को सही मात्रा में लेने पर रक्तचाप के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है। इसलिए सप्ताह में एक से दो बार मछली जरूर खाएं।

हाइपटेंशन से पीड़ित मरीजों को कुछ अन्य बातों का भी खास ध्यान रखना चाहिए। जैसे कि नींद की कमी या अनुचित नींद भी उच्च रक्तचाप के स्तर का एक कारण हो सकता है। इसलिए नियमित रूप से और 7-8 घंटे की बेहतर नींद लें। साथ ही योगा और एरोबिक एक्सरसाइज को नियमित तौर पर करें, क्योंकि ये ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मदद करते हैं। इस तरह अगर आप एक संयमित और हेल्दी लाइफस्टाइल का पालन करते हैं, तो आप हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकेंगे।

Source https://m.onlymyhealth.com/

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.