apple phone 2020
Android Apps

Apple ने ऐप डाटा प्राइवेसी में किया है बड़ा बदलाव, जानें

नई दिल्ली, टेक डेस्क। WWDC 2014 में Apple ने अपने ऐप प्राइवेसी फीचर को और भी इंप्रूव किया है। यूजर्स डाटा प्राइवेसी को लेकर हमेशा से ही काफी सजग रहे हैं। Apple भी यूजर्स के डाटा प्राइवेसी को ध्यान में रखते हुए नए iOS 14 के साथ ऐप प्राइवेसी फीचर को भी अनाउंस किया है। इस नए App Privacy फीचर के जरिए यूजर्स ये ट्रैक कर सकेंगे कि कोई ऐप उनके लोकेशन डाटा को तो शेयर नहीं कर रहा है। साथ ही, यह भी पता लग सकेगा कि किसी ऐप ने डिवाइस के माइक और कैमरा को तो एक्सेस नहीं किया है। अगर, ऐसा होगा तो यूजर को डिस्प्ले में एक इंटिकेटर के जरिए यह जानकारी मिलेगी।

Apple के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्रेग फेडरिगी ने इस फीचर को अनाउंस करते हुए कहा, हमारे सारे प्रोडक्ट्स प्राइवेसी प्रिसिंपल्स के दायरे में रहते हैं। इन नए फीचर के जरिए यूजर्स अपने लोकेशन की जानकारी को सीमित कर सकते हैं। Apple ने इसके लिए रिकॉर्डिंग इंडिकेटर जोड़ा है। जैसे ही डिवाइस का कैमरा या माइक्रोफोन एक्टिवेट होगा, यह इंडिकेटर स्टेटस बार के पास ब्लिंक करने लगेगा। 

Apple का यह नया अपडेट यूजर्स के डिवाइस की लोकेशन इन्फॉर्मेंशन किसी भी ऐप के जरिए शेयर नहीं करेगा और उसे सीमित कर देगा। साथ ही, Apple ने इस फीचर के साथ रिकॉर्डिंग इंडिकेटर भी जोड़ा है तो कि स्टेटर बार के बार ऑरेंज डॉट की तरह दिखेगा। Apple ने इसके अलावा ऐप परमिशन के लिए लेबल को भी इंट्रोड्यूस किया है। जो कि यह तय करेगा कि किसी भी ऐप के लिए कितना डाटा जरूरी होगा। यह फीचर यूजर को इन लेबल्स को दो कैटेगरी के साथ उपलब्ध होगा, जिसमें यूजर्स  ऐप के साथ लिंक डाटा और ट्रैक में इस्तेमाल डाटा को देख सकेंगे। साथ ही Apple थर्ड पार्टी ऐप ब्लॉकिंग और लोकेशन ट्रैकिंग ब्लॉकिंग फीचर को भी iOS 14 के साथ लेकर आया है।

source news : www.jagran.com

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.